मन की स्याही

कविता, कहानी. समीक्षा, आलेख लेकिन व्याकरण मुक्‍त

Archive for the tag “Mumbai attack”

26/11-Mumbai Attack

26/11 Mumbai Attack

खुद को भारतमाता के सपूत  कहने वाले नेताओं को अब सोचना पड़ेगा क्योंकि भारतमाता खुद उनसे कह रही है….
मैं तुम्हे क्या कहूँ तुम मेरे बेटेनहीं हो
जो होते तो मेरी छाती यूँ छलनीहोती ना देख पाते
मेरी घायल देह पर घरोंदे नबनाते
मेरे सच्चे सपूतों की देह पर यूँना सो जाते
मैं तुम्हे क्या कहूँ तुम मेरे बेटे नहीं हो—–
जो होते तो हर जगह तुम्हारी यूँ निंदा ना होती
ज़िन्दगी मौत से यूँ शर्मिंदा ना होती
कुचलते यूँ तुम दहशती सोच को
के सदियों तक कभी जिंदा ना होती
मैं तुम्हे क्या कहूँ तुम मेरे बेटे नहीं हो….
क्योंकि मेरे बेटे मेरी लाज बचाने लड़ गए
होके शहीद कितनों को जिंदा कर गए
मेरे आँचल से दूध नहीं उनका लहू बह रहा है
मेरा दिल तड़पकर तुमसे कह रहा है
मैं तुम्हे क्या कहूँ तुम मेरे बेटे नहीं हो …
जो होते तो … …..

Post Navigation